Saturday, December 3, 2011

14 अनाथ लापता तो एक नाबालिग गर्भवती, डॉ. यामिनी आबदे ने लगाए गंभीर आरोप

पुणे (आईएमएनबी) | कामशेत में स्थित विद्यावती आश्रम में एक 13 वर्षीय लड़की का बलत्कार 12 वर्षीय लड़के ने किया था | इस घटना पर जांच करने के लिए 5 सद्स्य नियुक्त किये गए जिस में से एक मानव अधिकार कार्यकर्ता डॉ. यामिनी आबदे ने जांच में कुछ गंभीर बाते सामने आते ही असंतोष पत्र जिला महिला और बाल कल्याण अधिकारी सुवर्ण पवार को भेज दिया | उस के दुसरे ही दिन सुवर्ण पवार ने डॉ यामिनी को बुलाकर कह दिया की आप यह विवरण जानकारी किसी को बहार ना दे |

डॉ यामिनी ने कहा, बात यहाँ जाकर खत्म नहीं होती है। इस के बावजूद में खोज बीन में लगी रही। इस मामले में तो मुझे धमकी भरे फ़ोन आ रहे थे | सुवर्ण पवार ने कुछ राजनेताओं के द्वारा मुझे धमकाने की कोशिश भी की, पर मैंने तुरंत देहु रोड पुलिस ठाणे में शिकायत दर्ज कर दी है | इसके बाद जब मैंने सुवर्ण पवार से पूछा के 14 बच्चे औषधालय से गायब है और 2003 -4 साल का प्रवेश रजिस्टर भी अभी नया क्यों बनाया है | तो सुवर्ण पवार ने मुझे यह कह कर धमकाया है। कि इस मामले में आप को कोई अधिकार नहीं है और आप इससे दुर रहे |
जब मीडिया ने सुवर्ण पवार से जवाब माँगा तो उनका कहना है कि आप फर्जी रिपोर्ट पर न जाए | हम जांच कर रहे है। लड़के का डीएनए और बच्चे का डीएनए हम जांच कर के उचित कारवाही करेंगे | परंतु इसके लिए और 4 महीने इंतजार करना पड़ेगा ।
दूसरी ओर इस मामले में डॉ यामिनी आदाबे कहना है की डीएन की आड़ में जांच को प्रभावित किया जा रहा है। तब तक मामले को पूरी तरीके से लड़की पर दवाब लाकर दबा दिया जाये गा यह डॉ. यामिनी का कहना है | सुवर्ण पवार को वडगाँव मावल के पुलिस थाने में बुला कर सफाई मांगी गई, की इस साल अगस्त में आप कई आश्रम निरीक्षण के लिए गए तो केवल दो आश्रम के रजिस्टार पर ही आप के हस्ताक्षर क्यों पाए गए। पवार ने अपने जवाब में यह कहा के वे जल्दबाजी में थी तो रह गया आश्रम के संचालक राजेश गुप्ता को भी पुलिस ने पुछताछ के लिए बुलवाया है |

महिलाओं और बाल कल्याण राज्य अधिकारी, वर्षा गायकवाड़ से इस घटना पर राय पूछा तो वे उनका कहना था कि हम महिलाओं और बच्चों के कल्याण आयुक्त उचित कार्रवाई करते हिए गहन जांच के बाद अपराधी के खिलाफ सख्त कदम उठाये जाएंगे | महिला बाल कल्याण विभाग पुणे के आयुक्त निगरानी और मार्गदर्शन में जांच किया जा रहा है। जांच पूरी तरह निष्पक्ष होगा। . "
डॉ. यामिनी आबदे ने आश्रम के वयस्थापन पर गंभीर आशंकाए जताते हुए आरोप लगाया है कि आश्रम के १४ बच्चे गायब है | मुझे पूरा यकींन है और कुछ जांच में सामने आया है की इन बच्चों के साथ ठीक नहीं हो रहा है |

यामिनी का आरोप बेबुनियाद, सुवर्ण
जिला महिला एवं बाल कल्याण विभाग की अधिकारी सुवर्ण पवार पर लगाए गए आरोप के मामले में जब आईएमएनबी संवादाता ने जवाब माँगा तो उनका कहना है कि आप फर्जी रिपोर्ट पर न जाए | मानव अधिकार कार्यकर्ता डॉ यामिनी का आरोप बेबुनियाद है। हम जांच कर रहे हैं। लड़के का डीएनए और बच्चे का डीएनए टेस्ट करवा कर हम जांच कर उचित कारवाही करेंगे | परंतु इसके लिए और 4 महीने इंतजार करना

No comments: