Monday, October 25, 2010

यह ·कैसा राज्योत्सव ???

यह ·कैसा राज्योत्सव ???

सुन ले मोर गोठ छत्तीसगढ़ राज ल बने दस साल पूरा होने वाला है। आउ समारू अपना सभी संगी साथी ·े साथ मिल·े भी शराब ठे·ादार ·े दू·ान ला छत्तीसगढ़ महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ठा·ुर प्यारेलाल सिंह अउ छत्तीसगढ़ राज्य आंदोलन के नेतृत्व ·रता सहित्यकार हरि ठाकुर के प्रतिमा के पास से नहीं हटा पावत हैं। दम नहीं है देवांगन बंधु मन ता·क त दिखाइस तो आजाद चौ·क पुलिस में अपराध ·कायम होगे अब ·कार में तात है। ·हागे हमर छत्तीसगढिय़ा साथी संगी जवान अऊ पहलवान साथी मन हा छुपगे है। छत्तीसगढ़ आजाद फौज,छत्तीसगढ़ टाइगर्स, छत्तीसगढ सेना,छ्त्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा,छत्तीसगढ़ संग्राम परिषद,छत्तीसगढ़ राज्य अंखड धरना चलाने वाला दाउ आनंद कुमार

डॉ. उदयभान सिंह चौहान। यह राज्योत्सव छत्तीसगढिय़ा मन के नहीं है। यह तो चोर ठे·केदार,भ्रष्ट अधि·कारी मन ·के है। मोर मन में जो बात रहिस तेन ला मे लिख दे हांव अब देखना है ·की आगे चल·कर · होई,दस साल पहले ए· बार हमन ला ए· होकर छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण बर लड़ाई ·रना पड़े रहीस अब छत्तीसगढ़ ·के अस्मिता बर लड़ाई लडऩा पड़ी। सवाल ए· दारू दूकान के नहीें है। सवाल अपन राज्य ·के है। जहां हमर राज नहीं चलत है मतलब पब्लिक · जनता ·के चिंता ·कोई नहीं रहता है। अफसर अउ नेता मन मिल·के जेब भरत है। शराबी मन के पैसा पंजाब जावत है।

No comments: