Friday, July 31, 2009

मुख्यमंत्री ने ली पुलिसअफसरों की क्लास


मुख्यमंत्री डा।रमन सिंह व गृहमंत्री ननकीराम कंवर ने शुक्रवार को पुलिस मुख्यालय में अफसरों की मैराथन बैठक ली। हाल के दिनों में नक्सल वारदातों में बढ़ोतरी को लेकर उन्होंने नाराजगी फटकार लगाई, वहीं अफसरों में व्याप्त गुटबाजी पर जमकर भड़के। मुख्यमंत्री डा.रमन ने दो टूक शब्दों में अफसरों को नक्सल आपरेशन के पुख्ता एक्शन प्लान बनाने के निर्देश दिए हैं। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री डा.रमन ने मुख्यालय में फेरबदल का भी इशारा किया है।विधानसभा के मानसून सत्र से फुरसत पाने के बाद आज सुबह करीब ११ बजे मुख्यमंत्री व गृहमंत्री छापामार अंदाज में पुलिस मुख्यालय पहुंचे। उनके अचानक पहुंचने पर मुख्यालय में हड़कंप मच गया। जब श्री सिंह वहां पहुंचे तब कुछ गिने-चुने अधिकारी ही वहां मौजूद थे। उनके आगमन की खबर पाते ही अफसरों ने बेल्ट कसी और वे पुलिस मुख्यालय की तरफ दौड़े। कुछ ही देर में ही पीएचक्यू का कांफ्रेंस हाल पुलिस अफसरों से पट गया। मुख्यमंत्री ने पुलिस अफसरों के पहुंचने के बाद ही बैठक शुरू की लेकिन इशारों ही इशारों में अफसरों की चुस्ती-फुर्ती के लिए अपनी नाराजगी भी प्रकट कर दी। लगभग ११ बजकर १० मिनट पर कांफ्रेंस हाल में मुख्यमंत्री डा.रमन, गृहमंत्री श्री कंवर, मुख्य सचिव पी.जॉय उम्मेन, प्रमुख सचिव (सीएम) बैजेंद्र कुमार, गृह सचिव एनके असवाल, विशेष सचिव अमन सिंह, डीजीपी विश्वरंजन, नक्सल आपरेशन एडीजी रामनिवास, एडीजी गिरधारी नायक, आईजी (इंटेलीजेंस) डीएम अवस्थी, आईजी आनंद तिवारी, आरके विज, आईजी मुकेश गुप्ता, डीआईजी नक्सल आपरेशन पवन देव, अरुण देव गौतम, राजकुमार देवांगन सहित अन्य अफसरों की मौजूदगी में बैठक शुरू हुई। मुख्यमंत्री श्री सिंह ने प्रदेश में बढ़ रही नक्सली घटनाओं को लेकर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने साफ शब्दों में पुलिस के एक्शन प्लान को कमजोर बताया। डाक्टर सिंह ने कहा कि नक्सली अपने हरकतों से सरकार को अस्थिर करने का षडय़ंत्र रच रहे हैं। पुलिस को चाहिए कि वह इसका मुंहतोड़ जवाब दे। उन्होंने अद्र्धसैनिक बलों की तैनाती के लिए विशेष योजना तैयार करने के आदेश दिए। बैठक में मानपुर की घटना के बाद पुलिस द्वारा अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाए जाने पर भी उन्होंने डीजीपी विश्वरंजन और एडीजी नक्सल आपरेशन रामनिवास पर नाराजगी जताई। मुख्यमंत्री ने बरसात के बाद नक्सल आपरेशन के लिए पुख्ता एक्शन प्लान बनाने कहा है। अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक बैठक में मुख्यमंत्री श्री सिंह ने गृहमंत्री श्री कंवर की नाराजगी दूर करते हुए मुख्यालय स्तर पर फेरबदल के भी संकेत दिए हैं। अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक पूरे बैठक में गृहमंत्री मुख्यमंत्री डा.रमन की हर बात से सहमत नजर आए। उन्होंने कुछ खास तो नहीं कहा पर बैठक में मुख्यमंत्री के तेवर देखकर यह बात स्पष्ट हो गया कि श्री कंवर मुख्यालय की अफसरशाही से नाराज चल रहे हैं। इसे लेकर ही मुख्यमंत्री ने आकस्मिक बैठक लेकर आपसी मतभेद को दूर करने का प्रयास करने के साथ ही मनमानी करने वाले अफसरों को सीधे तौर पर संकेत दिया है कि अनुशासन में रहे।

मिनट टू मिनट कार्यक्रम१०:३० पर पीएचक्यू को मिली सूचना १०:५० मुख्यमंत्री और गृहमंत्री पहुंचे११:०० बजे डीजीपी के चेंबर से बाहर निकले११:१० कांफ्रेंस हाल में बैठक शुरू१:०० पौधरोपण कार्यक्रम रद्द १:३० वन विभाग की नर्सरी लौटा दिए गए पौधे२:०० बैठक के समय में इजाफा२:१० मैराथन बैठक समाप्तपुलिस को बेहतर बनाने बैठक : रमन मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने बैठक के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि पुलिस में बेहतर सुधार के निर्देश दिए गए हैं। बैठक में प्रदेश में कानून व्यवस्था के साथ ही नक्सल समस्या और पुलिस की समस्याओं को लेकर चर्चा की गई। अफसरों से भी उनकी परेशानियों की जानकारी ली गई। नक्सल समस्या से निपटने पुलिस के वरिष्ठ और अनुभवी अफसरों को योजना तैयार करने कहा गया है। थानों और चौकियों को मजबूत बनाया जाएगा। केंद्रीय बलों को किन क्षेत्रों में नियुक्त किया जाए इस पर भी चर्चा की गई है।

No comments: